बॉडी टेंपरेचर का बढ़ना बुखार कहलाता है. बुखार शरीर के किसी बीमारी से ग्रस्त होने का संकेत हो सकता है. व्यस्क में 98.5 फॉरेनहाइट तापमान को सामान्य माना जाता है. हालांकि, बुखार कुछ दिनों में ठीक हो जाता है, फिर भी कुछ दवाइयां लेने से इसे कम किया जा सकता है. इसके लिए एसिटामिनोफेन व एडविल जैसी दवाइयां ली जा सकती हैं.

आज इस लेख में हम बुखार की सबसे अच्छी दवाओं के बारे में बताएंगे -

(और पढ़ें - बुखार की होम्योपैथिक दवा)

  1. बुखार में फायदेमंद दवाएं
  2. सारांश
बुखार के लिए सबसे अच्छी दवा के डॉक्टर

शरीर के सामान्य तापमान से अधिक तापमान होना बुखार कहलाता है. शरीर का तापमान इम्यून सिस्टम के किसी इंफेक्शन से लड़ने पर बढ़ता है. सामान्य बॉडी टेंपरेचर 98.5 डिग्री फॉरेनहाइट है. आमतौर पर बुखार 2 दिन तक रहता है और इसे एसिटामिनोफेन व एडविल जैसी दवाओं से ठीक किया जा सकता है. आइए, बुखार की सबसे अच्छी दवाओं के बारे में विस्तार से जानते हैं -

पेरासिटामोल - Paracetamol

पेरासिटामोल दवा बुखार को कम करने के लिए ली जा सकती है. इसके अलावा, इस दवा से सिरदर्दगैसदांतों का दर्दकमर का दर्द व ओस्टियोआर्थराइटिस जैसी शारीरिक समस्याओं से भी आराम मिल सकता है.

(और पढ़ें - बुखार भगाने के घरेलू उपाय)

आइबूप्रोफेन - Ibuprofen

आइबूप्रोफेन को भी बुखार के लिए सबसे अच्छी मेडिसिन माना जाता है. इसके तहत निम्न प्रकार की मेडिसिन आती हैं -

  • एडविल - एडविल दवा का सेवन बुखार को कम करने में सहायक है. इसके अलावा, मसल पेनअर्थराइटिसपीरियड्स पेन व सिरदर्द जैसी समस्याओं में भी एडविल का सेवन फायदेमंद हो सकता है.
  • नेप्रोक्सेन - नेप्रोक्सेन के सेवन से बुखार और अर्थराइटिस जैसी समस्याओं से राहत मिल सकती है. इसे उपयोगी नॉनस्टेरॉयडल व एंटी इंफ्लेमेटरी दवा माना गया है.

(और पढ़ें - बुखार का आयुर्वेदिक इलाज)

वोल्टरेन - Voltaren

वोल्टरेन दवा बुखार, दर्द व सूजन को कम करने में सहायक है. वायरल इंफेक्शन में भी डाक्टर इस दवा को लेने की सलाह देते हैं.

(और पढ़ें - बार-बार बुखार आने का इलाज)

अगर कोई बुखार के चलते परेशान है, तो वो डॉक्टर की सलाह पर इस लेख में बताई गई दवाओं का सेवन कर सकता है. ये दवाएं बुखार के साथ-साथ अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद साबित हो सकती हैं. दवा के अलावा मरीज के लिए पर्याप्त आराम करना, तरल पदार्थ का अधिक सेवन करना और पोषक तत्वों से युक्त खाद्य पदार्थों का भी सेवन करना चाहिए.

(और पढ़ें - तेज बुखार होने पर क्या करें?)

Dr. Syed Mohd Shadman

Dr. Syed Mohd Shadman

सामान्य चिकित्सा
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Arun Mathur

Dr. Arun Mathur

सामान्य चिकित्सा
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Siddhartha Vatsa

Dr. Siddhartha Vatsa

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Harshvardhan Deshpande

Dr. Harshvardhan Deshpande

सामान्य चिकित्सा
13 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें