कोरोनाकाल में हर एक व्यक्ति को इम्यूनिटी बूस्ट करने की सलाह दी गई. इम्यूनिटी बढ़ने से शरीर में बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है. कमजोर इम्यूनिटी से ग्रसित व्यक्ति को हमेशा सर्दी-जुकाम, बलगम वाली खांसी, जल्दी थकान का अनुभव होना, बेचैनी महसूस होना, बुखार आना, सिरदर्द होने जैसी समस्याएं होती हैं.

अगर आप इम्यूनिटी को बढ़ाना चाहते हैं, तो आयुर्वेदिक उपायों का सहारा ले सकते हैं. आयुर्वेद में कई ऐसे तरीके हैं, जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है. आज हम इस लेख में आपको इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बताएंगे.

(और पढ़ें - कमजोर इम्यूनिटी के लक्षण)

  1. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic remedies to increase immunity in Hindi
  2. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां - Ayurvedic Herbs for Immunity in Hindi
  3. सारांश - Summary
इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय, दवा और इलाज के डॉक्टर

आयुष मंत्रालय ने कोरोनाकाल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कुछ उपायों को साझा किया था. आइए डालते हैं उन उपायों पर एक नजर -

इम्यूनिटी बढ़ाने के सामान्य उपाय

  • पूरे दिन गर्म पानी पीजिए.
  • आयुष मंत्रालय की मुताबिक, प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास करना चाहिए.
  • खाना पकाने के दौरान अपनी सब्जियों में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का इस्तेमाल जरूर करें.
Immunity Booster
₹225  ₹320  29% छूट
खरीदें

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आयुर्वेदिक तरीके

  • रोजाना सुबह 10 ग्राम यानि एक चम्मच च्यवनप्राश का सेवन करें. अगर आपको डायबिटीज की शिकायत है, तो शुगर फ्री च्यवनप्राश का सेवन करें. 
  • दालचीनीतुलसी, काली मिर्च, मुनक्का और सोंठ से बना काढ़ा या फिर हर्बल टी का दिन में 1 या फिर 2 बार सेवन करें. स्वाद को बदलने के लिए आप इसमें गुड़ या ताजे नींबू का रस मिला सकते हैं. 
  • गोल्डन मिल्क यानि हल्दी वाला दूध - इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए प्रतिदिन 150 मिली गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिक्स करके पिएं.

(और पढ़ें - इम्युनिटी से संबंधित रोग)

डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए myUpchar Ayurveda Madhurodh डायबिटीज टैबलेट आपके लिए सही चयन हैं। इन टैबलेट्स से रक्त शर्करा को संतुलित रखें और स्वस्थ जीवन का आनंद लें। ऑर्डर करें!

इम्यूनिटी बढ़ाने के कुछ सरल आयुर्वेदिक प्रक्रियाएं

  • नाक का अनुप्रयोग - सुबह और शाम नाक के नथुनों में (प्रतिमार्ष नास्य) नारियल तेल, तिल का तेल या फिर घी लगाएं. इससे आपकी इम्यूनिटी बूस्ट हो सकती है.
  • ऑयल पुलिंग थेरेपी - ऑयल पुलिंग थेरेपी से आप अपनी इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकते हैं. ऑयल पुलिंग के लिए एक चम्मच तिल या नारियल का तेल मुंह में लीजिए. तेल को मुंह में लेने के बाद इसे पिएं नहीं, बल्कि 2 से 3 मिनट तक मुंह में घुमाएं और फिर थूक दें. इसके बाद गर्म पानी से कुल्ला करें. यह प्रक्रिया दिन में 1 या दो बार किया जा सकता है.

(और पढ़ें - इम्यून सिस्टम कैसे काम करता है)

आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियां मौजूद हैं, जिसकी मदद से आप इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं. यह जड़ी-बूटी न सिर्फ इम्यूनिटी को बढ़ाने में मददगार होती हैं, बल्कि इससे कई अन्य तरह की परेशानियां भी दूर की जा सकती हैं -

गिलोय

आयुर्वेद में सदियों से गिलोय का इस्तेमाल किया जा रहा है. इसका इस्तेमाल कई तरह की समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है. गिलोय के अर्क में कई ऐसे घटक जैसे-  एल्कलॉइड (alkaloids), स्टेरॉयड (Steroids), ग्लाइकोसाइड (Glycosides) और पॉलीसेकेराइड (polysaccharides) मौजूद होते हैं, जिनमें एंटीडायबिटिक (antidiabetic), एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant), एंटीहेपेटोटॉक्सिक (antihepatotoxic) और इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गुण (immunomodulatory properties) मौजूद होते हैं. गिलोय के इन्हीं गुणों के कारण आप इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए इसका सेवन कर सकते हैं. गिलोय के अर्क या फिर रस का सेवन करने से पहले एक बार आयुर्वेदाचार्य से सलाह जरूर लें.

जिनसेंग

जिनसेंग एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है. यह आपको बाजार में आसानी से मिल सकती है. इसका इस्तेमाल आप चाय, पाउडर या फिर काढ़े के रूप में कर सकते हैं. अध्ययन के मुताबिक, जिनसेंग का सेवन करने से इम्यूनिटी पावर बढ़ाई जा सकती है. साथ ही यह अन्य संक्रामक बीमारियों को दूर करने में आपकी मदद करता है. इसका सेवन करने से पहले एक बार आयुर्वेदाचार्य से सलाह जरूर लें.

(और पढ़ें - बच्चों की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं)

अदरक

आयुर्वेद में अदरक का भी खास महत्व है. अदरक का इस्तेमाल आयुर्वेद की कई दवाइयों को तैयार करने के लिए किया जाता है. अगर आप इम्यूनिटी बूस्ट करना चाहते हैं, तो अदरक का सेवन करें. अदरक में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और प्रतिरक्षा पोषण से भरा होता है. साथ ही यह कैंसररोधी गुणों से भी भरपूर होता है. ऐसे में अगर आप अदरक से तैयार काढ़ा या फिर चाय का सेवन करते हैं, तो आपकी इम्यूनिटी बूस्ट हो सकती है. लेकिन ध्यान रखें कि अदरक की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका अधिक मात्रा में सेवन न करें. अदरक का काढ़ा या फिर चाय को अपने डेली रूटीन में शामिल करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें.

हल्दी

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेद में हल्दी का इस्तेमाल काफी ज्यादा किया जाता है. रोजाना हल्दी युक्त काढ़ा, हल्दी की चाय और हल्दी वाला दूध पीकर आप अपनी इम्यूनिटी को बढ़ा सकते है. दरअसल, हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व पाया जाता है, जो आपकी इम्यूनिटी सिस्टम को मॉड्यूलेट करने में आपकी मदद कर सकता है. ऐसे में आप कह सकते हैं कि हल्दी के इस्तेमाल से इम्यूनिटी को बढ़ाई जा सकती है.

(और पढ़ें - इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग)

सहजन की पत्तियां

सहजन की पत्तियों का इस्तेमाल करके भी आप इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं. आयुर्वेद में कई बीमारियों को दूर करने के लिए सहजन की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है. रिसर्च के मुताबिक, सहजन की पत्तियों में फाइटोकेमिकल्स मौजूद होता है, जो इम्यून सिस्टम को बेहतर करने में असरदार हो सकती है. सहजन की पत्तियों का इस्तेमाल आप कई तरीकों से कर सकते हैं. कई लोग इसका सेवन पाउडर या फिर सब्जियां बनाकर करते हैं. वहीं, साग के रूप में भी आप सहजन की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं.

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आप आयुर्वेदिक उपायों का सहारा ले सकते हैं. लेकिन ध्यान रखें कि आयुर्वेद की जड़ी-बूटियों का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर या फिर आयुर्वेदाचार्य से सलाह जरूर लें. ताकि आपको जड़ी-बूटियों  से जुड़ी सही जानकारियां प्राप्त हो सके. वहीं, अगर आपको कोई गंभीर परेशानी है, तो किसी भी जड़ी-बूटी का सेवन करने से पहले डॉक्टर की राय जरूर लें.

(और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय)

Dr. Syed Mohd Shadman

Dr. Syed Mohd Shadman

सामान्य चिकित्सा
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Arun Mathur

Dr. Arun Mathur

सामान्य चिकित्सा
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Siddhartha Vatsa

Dr. Siddhartha Vatsa

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Harshvardhan Deshpande

Dr. Harshvardhan Deshpande

सामान्य चिकित्सा
13 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें